You are currently viewing मंडियों में धान लगभग समाप्त, विदेशी मांग अभी भी बरकरार

मंडियों में धान लगभग समाप्त, विदेशी मांग अभी भी बरकरार

मंडियों में धान लगभग समाप्त, विदेशी मांग अभी भी बरकरार

पिछले सप्ताह में अंतिम 3 दिन बासमती धान के बाजार के लिए कमजोर रहे है। मंडियों में धान की आवक काफी कम होने के बावजूद भी भाव 100 से 200 रूपये क्विंटल तक घट गए है। हालांकि ऐसा होना नहीं चाहिए अगर आवक घटती है तो धाम बढ़ने चाहिए लेकिन ऐसा इसलिए है क्योंकि मिलर्स ने पहले ही अच्छी खासी धान की खरीदी कर ली है और चावल की कीमतों ने आसमान छू लिया है। इससे विदेशी कंपनियों ने माल लेना कम कर दिया और मिलर्स के पास अच्छा खासा स्टाक हो गया। मिलर्स के पास स्टाक होने मंडियों पर असर पड़ रहा है। हालांकि मार्च में शुरू होने वाले रमजान को लेकर लगभग सभी विदेशी कंपनियों को चावल की जरूरत है इसलिए चावल में गिरावट आने की संभावना बहुत कम है।

जानकारों का कहना है की धान का भाव भी कुछ ठहर कर जल्दी तेजी की तरफ बढ़ सकता है। हरियाणा पंजाब की मंडियों में अब धान लगभग समाप्त हो चुका है। हरियाणा की हैफेड सहित कई नामी कंपनियां एमपी से धान खरीद रही हैं इसलिए एमपी में भी धान काफी ऊंचा हो गया है। इन दिनों स्टीम चावल में 1121 का भाव ₹ 97 से 98 रूपये, 1718 का भाव ₹ 94 से 95 रूपये, तथा 1401 का भाव ₹ 96 से 97 रूपये, 1509 डार्क भाव ₹ 93 से 94 रूपये के स्तर पर है। धान 1401 का भाव ₹ 52 से 53 रूपये, 1121 का भाव ₹ 48 से 49 रूपये, 1718 का भाव ₹ 47 से 48 रूपये के आसपास बना हुआ है। 1401 कुछ ही समय पहले 5500 का भाव देख चुका है। जानकारों का कहना है कि बासमती धान चावल में मंदे की उम्मीद नहीं है बाजार कुछ न कुछ बढ़ ही सकता है।

Leave a Reply